सम्राट अशोक का इतिहास | Ashok Smrat In Hindi

सम्राट अशोक

सम्राट अशोक भारत वर्ष का एक प्रतापी राजा था । यह चन्द्रगुप्त का पौत्र तथा बिन्दुसार का पुत्र अशोक, मौर्य वंश का सबसे शक्तिशाली शासक था । यह दुनिया के महान शासकों मे से एक था । इसके … Read more

चोल वंश, संस्थापक

चोल वंश

दक्षिण भारत में चोल वंश को प्राचीनतम शासक माना जा सकता है । महभारत में इसका उल्लेख मिलता है और अशोक के अभिलेख में इसकी गड़ना स्वतंत्र राज्य के रूप में मिलता है । सिहली ग्रन्थ महावंश में … Read more

चंदेल वंश का इतिहास

चंदेल वंश

चंदेल वंश को भारत के प्रसिद्ध वंश के रूप में जाना जाता है । चंदेल एक महान शासक तथा कुशल राजनीतिज्ञ थे । चन्देलों ने 4 शतब्दियों तक बुंदेलखंड पर राज किया । चंदेल वंश का भारतीय  कला … Read more

राष्ट्रकूट वंश | rashtrakuta vansh in hindi

राष्ट्रकूट वंश

राष्ट्रकूट उन अधिकारियों को कहा जाता था जो राष्ट्र नामक राजनीति इकाई अथवा भूभाग पर शासन करते थे। राष्ट्रकूट पहले बादामी के चालुक्यों के अंतर्गत जिला अधिकारी थे। इनकी मातृभाषा कन्नड़ थी और इनके पूर्वज 640 ई में बरार … Read more

सिंधु घाटी सभ्यता | Sindhu Ghati Sabhyata In Hindi

सिंधु घाटी सभ्यता

सिंधु घाटी सभ्यता की खोज, Sindhu Ghati Sabhyata In Hindi सिंधु घाटी सभ्यता भारत की सबसे प्राचीन सभ्यता में से एक है। 1922 के पहले इस सभ्यता के बारे में किसी को कुछ मालूम नहीं था। 1922 में … Read more

प्राचीन भारत का इतिहास

प्राचीन भारत का इतिहास

वेदों के अनुसार प्राचीन भारत का इतिहास कई हजारों लाखों सालों का है, इसे देव भूमि भी कहा जाता हैं यहाँ मुख्य रूप से आर्य समाज के लोग निवास करते थे,जिसे आज का हिन्दू धर्म कहा जाता हैं। भारत … Read more

छत्रपति शिवाजी महाराज | Shivaji Maharaj History In Hindi

शिवाजी का जन्म कहाँ हुआ था

छत्रपति शिवाजी महाराज(shivaji maharaj) भारतवर्ष के महान राजा और देश भक्त थे, जिन्होंने मराठा साम्राज्य की नीव रखी । 1674 में रायगढ़ में इनका राज्य अभिषेक हुआ और छत्रपति बने । छत्रपति शिवाजी महाराज (shivaji maharaj)ने धर्म की रक्षा … Read more

वैदिक सभ्यता | vaidik sabhyata in hindi

वैदिक सभ्यता

वैदिक सभ्यता का काल, वैदिक काल ,vaidik sabhyata in hindi वैदिक साहित्य वैदिक काल – वैदिक साहित्य केवल भारतीय आर्यों का नहीं यह पूरे मनुष्य जाती का का सबसे प्राचीन साहित्य है । वेद का अर्थ है ज्ञान … Read more

परमार वंश का संस्थापक

परमार वंश का संस्थापक

परमार वंश का संस्थापक, parmar vansh ka sansthapak दसवीं शदी के शुरुआत मे उपेंद्र अथवा कृष्णराज ने परमार वंश की स्थापना की, अथवा कृष्णराज को ही परमार वंश का संस्थापक माना जाता है .  परमार शासक काला और … Read more

मौर्य वंश का संस्थापक कौन था

मौर्य वंश का संस्थापक

मौर्य वंश का संस्थापक, Maurya vansh Ka Sansthapak मौर्य वंश के पहले मगध मे नन्द वंश का साम्राज्य था । नन्द वंश के राजा हमेशा भोग विलास मे दुबे रहते थे इस कारण इनका ध्यान अपनी प्रजा के … Read more

महाजनपद काल | 16 mahajanpad ke naam, 30+Best Q&A hindi

महाजनपद काल

महाजनपद काल का इतिहास, mahajanpad kal in hindi , 16 mahajanapadas in hindi, mahajanapadas meaning in hindi महाजनपद काल का उदय –  वैदिक काल के प्रारम्भ में राजनीतिक संगठन का मुख्य आधार `जन` था। प्रारम्भ में इनका कोई सर्वथा … Read more

राणा सांगा का इतिहास

राणा सांगा

राणा सांगा अपने समय के सबसे शक्तिशाली हिन्दू राजा थे । वह एक कुशल राजनीतिज्ञ और साहसी राजा थे । खानवा के युद्ध में  उनके शरीर पर 80 घाव लगे थे। उनका एक हाँथ युद्ध में कट गया … Read more

1857 की क्रांति | 1857 ki kranti in hindi

1857 की क्रांति

1857 की क्रांति की शुरुआत,1857 ki kranti in hindi 1857 की क्रांति तक अंग्रेजों ने कुछ हिंस्सों को छोड़कर पूरे देश को अपना गुलाम बना लिया था और भारत में अंग्रेजों का अत्याचार बढ़ता जा रहा था । … Read more

महाराणा प्रताप की मृत्यु कैसे हुई

महाराणा प्रताप की मृत्यु

महाराणा प्रताप की मृत्यु कैसे हुई महाराणा प्रताप की मृत्यु से भारत का एक वीर पुत्र सदा-सदा के लिए चला गया । जिसने मरते दम तक अपना सिर किसी शत्रु के सामने नहीं झुकाया और राजपूतों के सम्मान … Read more

बौद्ध धर्म ,संस्थापक, सिद्धांत

बौद्ध धर्म

बौद्ध धर्म संस्थापक | baudh dharm in hindi गौतम बुद्ध के द्वारा 6 वी शताब्दी में बौद्ध धर्म का स्थापना किया गया था । बौद्ध धर्म क्या है– महावीर के समान बुद्ध भी वेदों की प्रामाणिकता मे विश्वास … Read more

मौर्य वंश का संस्थापक | maurya vansh in hindi 

मौर्य वंश

मौर्य वंश के सत्ता में आने के पहले नंद वंश का साम्राज्य था. वह अत्यंत क्रूर तथा प्रजा का शोषण करता था और क्षत्रिय वंश को समाप्त करना चाहता था. इन सभी कारणों से मगध की जनता नंद … Read more

सातवाहन वंश, संस्थापक | 30 Best Imp Q&A

सातवाहन वंश का संस्थापक

पुराणों में कण्व वंश को समाप्त करने का श्रेय आंध्रजातीय सिमुक को दिया जाता है । आंध्र एक प्राचीन जाती के लोग थे । जिनका निवास स्थान कृष्णा तथा गोदावरी नदियों के मध्य था । जिस समय मगध … Read more

जैन धर्म के संस्थापक, इतिहास, 24 तीर्थकर 

जैन धर्म जैन शब्द जिन शब्द से बना है। जिन का अर्थ होता है विजेता अर्थात जिसने इन्द्रियों को जीत लिया हो। जिन महावीर की एक अन्य उपाधि है जो अपनी साधना की समाप्ति और लक्ष्य की प्राप्ति … Read more