भारत में कुल कितने राज्य है, भारत के 28 राज्य और राजधानी

भारत में कुल कितने राज्य है

भारत में कुल कितने राज्य है, भारत के राज्य और उनकी राजधानी, Bharat ke rajya aur rajdhani 2021, bharat me kitne rajya hai,स्थापना दिवस   क्रमांक राज्य का नाम राजधानी स्थापना दिवस 1 आंध्र प्रदेश हैदराबाद 1 नवम्बर 1956 2 … Read more

दंतीदुर्ग किस वंश का संस्थापक था

दंतीदुर्ग किस वंश का संस्थापक था, dantidurg kis Vansh ka sansthapak tha​  राष्ट्रकूट वंश का स्थापना दन्तिदुर्ग ने लगभग 736 ई. मे की थी । उसने नासिक को अपनी राजधानी बनाया । इसके बाद मान्यखेट को अपनी राजधानी … Read more

चाणक्य नीति | Chanakya Niti In Hindi

chankya niti

चाणक्य नीति, chanakya niti in hindi, charakya niti स्त्रीणां द्विगुण आहारों बुद्धिस्तासां चतुर्गुणा । साहसं षड्गुणम चैव कामो अष्टगुण उच्यते ॥   पुरुषों की अपेक्षा स्त्रियों का आहार दोगुना होता है बुद्धि चौगुनी, साहस 6 गुना, कामवासना 8 … Read more

आचार्य रामचंद्र शुक्ल जीवन परिचय

acharya ramchandra shukla ka jeevan parichay

आचार्य रामचंद्र शुक्ल का जन्म सन 1884 में उत्तर प्रदेश के बस्ती जिले के अगोना गांव में हुआ था. इनके पिता का नाम चंद्रावली पांडे था. इन्होंने संस्कृत की शिक्षा घर पर प्राप्त की थी और इंटरमीडिएट तक … Read more

Jain Dharm Ke Sansthapak | जैन धर्म के संस्थापक

Jain Dharm Ke Sansthapak

जैन धर्म के संस्थापक | jain dharm ke sansthapak  जैन परम्परा में महावीर को जैन धर्म का संस्थापक नहीं माना जाता है। जैनों के अनुसार ,महावीर के पूर्व 23 तीर्थकरों ने समय-समय पर जैन धर्म का प्रचार प्रसार … Read more

महादेवी वर्मा का जीवन परिचय

महादेवी वर्मा का जीवन परिचय

महादेवी वर्मा का जीवन परिचय आधुनिक हिंदी कवियत्री में महादेवी वर्मा का स्थान सबसे ऊंचा माना जाता है।  महादेवी वर्मा छायावादी रहस्यवादी युग की कवियत्री है। महादेवी वर्मा जी की रचनाओं का महत्व उनकी गीतआत्मक और रहस्यवादी भावना … Read more

भारत का इतिहास, History of India In Hindi

भारत का इतिहास

भारत का इतिहास, History of India In Hindi प्राचीन भारत का सम्पूर्ण इतिहास सिंधुघाटी सभ्यता जैन धर्म बौद्ध धर्म राजपूत काल आधुनिक भारत का इतिहास वैदिक सभ्यता महाजनपद काल सातवाहन वंश छत्रपती शिवाजी महाराज का इतिहास महाराणा प्रताप … Read more

Gautam Buddha In Hindi | गौतम बुद्ध का जीवन परिचय

gautam-budh

गौतम बुद्ध का जन्म, gautam buddha in hindi गौतम बुद्ध (gautam buddha)का जन्म लुंबिनी में  563 ई पूर्व के आस पास माना जाता है बुद्ध के बचपन का नाम सिद्धार्थ था । उनका जन्म नेपाल की तराई मे … Read more

sumitranandan pant in hindi | सुमित्रानंदन पंत का जीवन परिचय

sumitranandan pant

सुमित्रानंदन पंत (sumitranandan pant)हिंदी के प्रसिद्ध छायावादी कवि हैं। जिस समय छायावाद का बोलबाला था उस समय पंत जी को युग परिवर्तन कवि और युगांतरकारी कवि कहा जाता था। परिवर्तन अथवा युग परिवर्तन से यह अभिप्राय था कि … Read more

बौद्ध धर्म के संस्थापक | Baudh Dharm Ke Sansthapak

बौद्ध धर्म के संस्थापक

बौद्ध धर्म के संस्थापक बौद्ध धर्म के संस्थापक सिद्धार्थ थे । जिनको गौतम बुद्ध के नाम से जाना जाता है । उनका जन्म लगभग 2500 वर्ष पूर्व माना जाता है । यह वह समय था लोगों के जीवन … Read more

संभाजी महाराज(संपूर्ण जीवन) | Sambhaji Maharaj History in Hindi

sambhaji maharaj

छत्रपती संभाजी महाराज (sambhaji maharaj)या शंभुराजे(संभाजी राजे भोसले) छत्रपती शिवाजी के पुत्र और उत्तराधिकारी थे। छत्रपती शिवाजी के बाद संभाजी छत्रपती बने और मराठा साम्राज्य की बागडोर अपने हाथों में लिया । मराठों का सबसे बड़ा शत्रु मुंगल … Read more

बालाजी विश्वनाथ | peshwa balaji vishwanath

बालाजी विश्वनाथ

Peshwa Balaji Vishwanath पेशवा बालाजी विश्वनाथ का जन्म कोकड़ प्रदेश के श्रीवर्धन गाँव के छितपावन ब्राह्मण के भट्ट परिवार मे 1662 ई. मे हुआ था । यह गाँव जंजीरा के सीदियों के शासन के अंतर्गत था। इनसे शत्रुता … Read more

सूरदास का जीवन परिचय | Surdas Biography In Hindi

सूरदास

सूरदास हिन्दी के मुक्तक काव्य लिखने वाले कवियों में सर्वश्रेष्ठ माने जाते है । सुंदर पद और गीत सूरदास ने लिखे है , वैसे हिन्दी में किसी कवि ने नहीं लिखे है प्रबंध काव्य लेखकों में तुलसीदास जी … Read more

तुलसीदास का जीवन परिचय | Tulsidas Biography in Hindi

तुलसीदास

तुलसीदास(tulsidas)जी को हिन्दी का सबसे बड़ा कवि माना जाता है । इनकी सबसे प्रसिद्ध पुस्तक रामचरित मानस है, जो आज भारत में धार्मिक पुस्तक के रूप में जाना जाता है । हिन्दी के किसी भी कवि ने जनता … Read more

meera ke pad | मीरा के पद अर्थ सहित

meera ke pad

meera ke pad, मीरा के पद अर्थ सहित, मीरा के दोहे     बसो मोरे नैनन में नंद लाल।   मोर मुकुट मकराकृत कुंडल, अरुण तिलक दिये भाल। मोहनि मूरति सांवरी सुरति, नैना बने बिसाल। अधर सुधा-रस मुरली राजति, … Read more

Kabirdas, कबीरदास का जीवन परिचय

kabir das ki rachnaye

Kabirdas, कबीरदास का जीवन परिचय, Kabirdas Biography In Hindi संत कबीरदास (kabirdas)हिन्दी साहित्य के भक्ति काल के अंतर्गत ज्ञानमार्गी शाखा के कवि हैं । कबीरदास का जन्म सन 1398 में काशी में लहरतारा तालाब के पास हुआ था … Read more

मीराबाई का जीवन परिचय | Mira Bai Biography In Hindi

मीराबाई का जीवन परिचय

मीराबाई का जीवन परिचय, मीराबाई का जन्म कब हुआ था, मीराबाई का बचपन का नाम क्या है मीराबाई का जन्म मारवाड़ के कुड़की नाम के गांव में 1498 में एक राज परिवार में हुआ था. उनके पिता का … Read more

मीराबाई की रचनाएँ, जीवन परिचय, कला पक्ष, भाव पक्ष, साहित्य में स्थान

meera bai hindi

जीवन परिचय मीराबाई की रचनाएँ मीरा ने स्वयं कुछ नहीं लिखा । कृष्ण के प्रेम में मीरा ने जो गाया वो बाद में पद मे संकलित हो गए । राग सोरठा नरसीजी रो मायारा मीरा की मल्हार मीरा … Read more

Tulsidas Ke Dohe In Hindi | तुलसीदास के दोहे अर्थ सहित

तुलसीदास की रचनाएं

1 Tulsidas Ke Dohe In Hindi, तुलसीदास के दोहे अर्थ सहित, गोस्वामी तुलसीदास के दोहे 1 कलि कुचालि सुभ मति हरनि सरलै दँडै चक्र। तुलसी यह निश्चय भई बढ़ि लेति नव बक्र॥ अर्थ– तुलसीदास जी कहते है कलियुग … Read more

मगध साम्राज्य का इतिहास | Magadh Samrajya In Hindi

मगध साम्राज्य

मगध सोलह महजनपदों मे से एक था । प्रारम्भ मे इसमें गया और पटना जिले तक आते थे। इनकी राजधानी गिरिव्रज थी । महाभारत और पुराणों मे मगध के सबसे प्राचीन राजवंश का नाम बाहद्रथ था । जिसमे … Read more