करुण रस के उदाहरण, परिभाषा। karun ras ka udaharan

करुण रस की परिभाषा

जहाँ किसी के निधन या स्थायी वियोग का वर्णन होता है वहाँ करुण रस होता है ।

उदाहरण

अभी तो मुकुट बंधा था माँथ,

हुए अब हल्दी के हांथ,

हाय रुक गया यहीं संसार,

बना सिंदूर अंगार।

 

Leave a Comment