bal kavita, बाल कविता

बाल कविता आप नहीं करते, आप नहीं करते कोई और, काला जूता जिसमें मैं एक पैर की तरह रहा हूँ तीस साल के लिए, गरीब और गोरे, बमुश्किल सांस लेने की हिम्मत या आचू। पिताजी, मुझे तुम्हें मारना … Read more

full form of nrega

full form of nrega (Mahatma Gandhi National. Rural Employment Guarantee Act 2005 Ministry of Rural Development, Government of India.)महात्मा गांधी राष्ट्रीय ग्रामीण रोजगार गारंटी अधिनियम (मनरेगा), जिसे मूल रूप से राष्ट्रीय ग्रामीण रोजगार गारंटी अधिनियम (नरेगा) के रूप में जाना … Read more

10 lines on holi festival in hindi, 10 लाइन होली पर निबंध

10 lines on holi festival in hindi होली(Holi essay) रंगों का त्योहार है। यह हर साल फाल्गुन (मार्च) के महीने की पूर्णिमा के दिन मनाया जाता है। यह त्योहार पूरे देश में खुशी, उल्लास, मस्ती और उत्साह के … Read more

शिवाजी का जन्म कहां हुआ था

शिवाजी का जन्म कहाँ हुआ था

 शिवाजी का जन्म कहाँ हुआ था छत्रपति शिवाजी महाराज का इतिहास शिवाजी महाराज का जन्म  जन्म       –      19 फ़रवरी 1630 स्थान      –       शिवनेर (बैसाख मास के शुक्ल पक्ष की द्वितीय … Read more

शब्द किसे कहते है, शब्द की परिभाषा, भेद, प्रकार और उदाहरण

शब्द किसे कहते है, शब्द की परिभाषा शब्द एक या अधिक वर्णो से बनी हुई स्वतंत्र सार्थक ध्वनि को शब्द कहते है, या निश्चित अर्थ को प्रकट करने वाले वर्ण समूह को शब्द कहते है । शब्द के … Read more

मुगल वंश का संस्थापक कौन था | Mughal vansh ka sansthapak

मुगल वंश का संस्थापक मुगल वंश का संस्थापक बाबर था, मुगल साम्राज्य 1526 से शुरू हुआ था । अधिकतर मुगल शासक तुर्क और सुन्नी मुसलमान थे. मुगल शासन 17 वीं शताब्दी के आखिर तक कुछ हिस्सों में बना … Read more

indian constitution in hindi pdf, Dowanload, भारत का संविधान

indian constitution in hindi pdf, भारतीय संविधान हिंदी pdf download भारत का संविधान(Indian Constitution) – भारत, जिसे भारत के नाम से भी जाना जाता है, जो कि राज्यों का एक संघ है। यह व्यवस्था सरकार की संसदीय प्रणाली के … Read more

पुष्यमित्र बौद्ध धर्म का समर्थक था | Pushyamitra baudh dharm ka samarthak tha

पुष्यमित्र बौद्ध धर्म का समर्थक था,  साहित्य में पुष्यमित्र शुंग को बौद्ध धर्म का विरोधी और बौद्ध धर्म के अनुयायियों का उत्पीड़न करने वाला बताया गया है।दिव्यावदन के अनुसार उसने सियालकोट में यहाँ तक घोषणा कि की जो … Read more

गांधी जयंती 2021 | gandhi jayanti in hindi

गांधी जयंती

गांधी जयंती गांधी जयंती हर वर्ष  2 अक्टूबर को मोहनदास करमचंद गांधी की जयंती(महात्मा गांधी) के रूप में बनाया  जाता है , राष्ट्रपिता, जैसा कि उन्हें कहा जाता है , महात्मा गाँधी जी ने  भारत में ब्रिटिश शासन … Read more

Surdas ki rachnaye in hindi | सूरदास की रचनाएँ

सूरदास

सूरदास की रचनाएँ, Surdas ki rachnaye  (1) सूरसागर – जो सूरदास की प्रसिद्ध रचना है। जिसमें सवा लाख पद  थे। किंतु अब 7-8 हजार पद  मिलते हैं। (2) साहित्य-लहरी – जिसमें उनके कूट पद संकलित हैं। (3) नल-दमयन्ती (4) ब्याहलो … Read more

पृथ्वीराज चौहान का इतिहास | Prithviraj chauhan history in hindi

पृथ्वीराज चौहान पृथ्वीराज चौहान  तृतीय 1178–1192 जिसे पृथ्वीराज चौहान या राय पिथौरा के नाम से जाना जाता है, चाहमान (चौहान) वंश के एक राजा थे। उन्होंने वर्तमान उत्तर-पश्चिमी भारत में पारंपरिक चाहमान क्षेत्र, सपदलक्ष पर शासन किया। उन्होंने … Read more

तुलसीदास की रचनाएं | tulsidas ki rachnaye in hindi

तुलसीदास की रचनाएं

तुलसीदास की रचनाएं, tulsidas ki rachnaye दोहावली कवितावली गीतावली राम शलाका संकट मोचन करखा रामायण रोला रामायण झूलना छप्पय रामायण कवित्त रामायण कलिधर्माधर्म निरुपण रामचरितमानस रामललानहछू वैराग्य-संदीपनी बरवै रामायण पार्वती-मंगल जानकी-मंगल रामाज्ञाप्रश्न श्रीकृष्ण-गीतावली विनयपत्रिका सतसई छंदावली रामायण कुंडलिया … Read more

विश्वकर्मा जयंती 2021, विश्वकर्मा की पूजा किसलिए करते है

विश्वकर्मा जयंती 2021, Happy Vishwakarma Puja 2021  17 सितंबर, शुक्रवार 2021 को देशभर में विश्वकर्मा जयंती मनाया जाएगा । इस दिन भगवान विश्वकर्मा की पूजा किया जाता है । विश्वकर्मा जी को ब्रह्मा जी के सातवें पुत्र के … Read more

गुप्त वंश का संस्थापक कौन था

गुप्त वंश का संस्थापक गुप्त वंश का संस्थापक श्रीगुप्त था । गुप्त वंश प्राचीन भारत के प्रमुख शासकों में से एक थे । मौर्य वंश के पतन के बाद गुप्त वंश का उदय हुआ था । चन्द्रगुप्त प्रथम … Read more

वेद क्या है, ऋग्वेद, सामवेद, यजुर्वेद, अथर्ववेद

वेद क्या है वेद को वैदिक साहित्य भी कहा जाता है वेदों को अपौरुषेय कहा जाता है अर्थात उसकी रचना देवताओं ने की है।  वेदों को श्रुति भी कहते हैं।   क्योंकि श्रवण परंपरा द्वारा ज्ञान को सुरक्षित रखा … Read more