पुष्यमित्र बौद्ध धर्म का समर्थक था | Pushyamitra baudh dharm ka samarthak tha

पुष्यमित्र बौद्ध धर्म का समर्थक था,  साहित्य में पुष्यमित्र शुंग को बौद्ध धर्म का विरोधी और बौद्ध धर्म के अनुयायियों का उत्पीड़न करने वाला बताया गया है।दिव्यावदन के अनुसार उसने सियालकोट में यहाँ तक घोषणा कि की जो … Read more

गांधी जयंती 2021 | gandhi jayanti in hindi

गांधी जयंती

गांधी जयंती गांधी जयंती हर वर्ष  2 अक्टूबर को मोहनदास करमचंद गांधी की जयंती(महात्मा गांधी) के रूप में बनाया  जाता है , राष्ट्रपिता, जैसा कि उन्हें कहा जाता है , महात्मा गाँधी जी ने  भारत में ब्रिटिश शासन … Read more

Surdas ki rachnaye in hindi | सूरदास की रचनाएँ

सूरदास

सूरदास की रचनाएँ, Surdas ki rachnaye  (1) सूरसागर – जो सूरदास की प्रसिद्ध रचना है। जिसमें सवा लाख पद  थे। किंतु अब 7-8 हजार पद  मिलते हैं। (2) साहित्य-लहरी – जिसमें उनके कूट पद संकलित हैं। Advertisements (3) नल-दमयन्ती (4) … Read more

पृथ्वीराज चौहान का इतिहास | Prithviraj chauhan history in hindi

पृथ्वीराज चौहान पृथ्वीराज चौहान  तृतीय 1178–1192 जिसे पृथ्वीराज चौहान या राय पिथौरा के नाम से जाना जाता है, चाहमान (चौहान) वंश के एक राजा थे। उन्होंने वर्तमान उत्तर-पश्चिमी भारत में पारंपरिक चाहमान क्षेत्र, सपदलक्ष पर शासन किया। उन्होंने … Read more

विश्वकर्मा जयंती 2021, विश्वकर्मा की पूजा किसलिए करते है

विश्वकर्मा जयंती 2021, Happy Vishwakarma Puja 2021  17 सितंबर, शुक्रवार 2021 को देशभर में विश्वकर्मा जयंती मनाया जाएगा । इस दिन भगवान विश्वकर्मा की पूजा किया जाता है । विश्वकर्मा जी को ब्रह्मा जी के सातवें पुत्र के … Read more

वेद क्या है, ऋग्वेद, सामवेद, यजुर्वेद, अथर्ववेद

वेद क्या है वेद को वैदिक साहित्य भी कहा जाता है वेदों को अपौरुषेय कहा जाता है अर्थात उसकी रचना देवताओं ने की है।  वेदों को श्रुति भी कहते हैं।   क्योंकि श्रवण परंपरा द्वारा ज्ञान को सुरक्षित रखा … Read more

कबीरदास की रचनाएँ | Kabir das ki rachnaye in hindi

kabir das ki rachnaye

कबीरदास की रचनाएँ | Kabir das ki rachnaye in hindi Kabir das ki rachnaye in hindi: दोस्तों, कवि कबीर दास जी ने अपनी रचनाओं के माध्यम से न सिर्फ केवल मानव जीवन के मूल्यों की बेहतरीन तरीके से … Read more

पंजशीर घाटी का इतिहास

पंजशीर घाटी

पंजशीर घाटी Panjshir ghati पंजशीर घाटी को पांच शेरों की घाटी  भी कहा जाता है । इसका नाम एक घटना  से जुड़ा हुआ है। माना जाता है कि 10वीं शताब्दी में, पांच भाई बाढ़ के पानी को रोकने … Read more

विरासत का अर्थ, संरक्षण, चुनौती

विरासत क्या है विरासत वह है जो हमें अपने पूर्वजों से प्राप्त हुआ है और हमारे चारों ओर उपस्थित हो । यह प्रकृतिक के द्वारा अथवा मानव निर्मित हो सकता है । यह किसी व्यक्ति, स्थान, क्षेत्र या … Read more

गंग वंश का इतिहास

गंग वंश का इतिहास दूसरी से ग्यारहवी शताब्दी ई मैसूर के आधिकांश भाग के शासक थे । इस वंश के प्रथम शासक कोग्निवर्मा ने कई युद्ध जीते और अपने राज्य का बहुत विस्तार किया था । 10 वी … Read more

जम्मू कश्मीर का इतिहास | Jammu Kashmir history In hindi

जम्मू कश्मीर का इतिहास

जम्मू कश्मीर का इतिहास सातवीं शताब्दी के शुरुआत में कंकोर्टक राजवंश की स्थापना हुई। इसका संस्थापक दुर्लभ वर्धन था।  यह हर्षवर्धन का समकालीन राजा था और हर्षवर्धन की अधीनता स्वीकार करता था।  दुर्लभवर्धन के बाद उसके तीनों पुत्रों … Read more

रक्षा बंधन कब है 2021 में, जाने शुभ मुहूर्त

रक्षा बंधन कब है

रक्षा बंधन कब है इस वर्ष रक्षा बंधन का पर्व 22 अगस्त रविवार को है , इस वर्ष पुर्णिमा की तिथि 21 अगस्त शाम से शुरू होगा और 22 अगस्त को शाम तक रहेगा । इस कारण 22 … Read more

झांसी की रानी लक्ष्मीबाई

rani lakshmibai

झाँसी की रानी लक्ष्मीबाई ने 1857 की क्रांति में अंग्रेज़ो के साथ बड़ा भयंकर युद्ध किया और पूरे देश में भारतीय नारी की वीरता को दिखाया । पर पूर्ण सहयोग न मिलने के कारण यह आंदोलन असफल रहा, … Read more

भारत में कुल कितने राज्य है, भारत के 28 राज्य और राजधानी

भारत में कुल कितने राज्य है

भारत में कुल कितने राज्य है, भारत के राज्य और उनकी राजधानी, Bharat ke rajya aur rajdhani 2021, bharat me kitne rajya hai,स्थापना दिवस   क्रमांक राज्य का नाम राजधानी स्थापना दिवस 1 आंध्र प्रदेश हैदराबाद 1 नवम्बर 1956 2 … Read more

दंतीदुर्ग किस वंश का संस्थापक था

दंतीदुर्ग किस वंश का संस्थापक था, dantidurg kis Vansh ka sansthapak tha​  राष्ट्रकूट वंश का स्थापना दन्तिदुर्ग ने लगभग 736 ई. मे की थी । उसने नासिक को अपनी राजधानी बनाया । इसके बाद मान्यखेट को अपनी राजधानी … Read more

चाणक्य नीति | Chanakya Niti In Hindi

chankya niti

चाणक्य नीति, chanakya niti in hindi, charakya niti स्त्रीणां द्विगुण आहारों बुद्धिस्तासां चतुर्गुणा । साहसं षड्गुणम चैव कामो अष्टगुण उच्यते ॥   पुरुषों की अपेक्षा स्त्रियों का आहार दोगुना होता है बुद्धि चौगुनी, साहस 6 गुना, कामवासना 8 … Read more

Jain Dharm Ke Sansthapak | जैन धर्म के संस्थापक

Jain Dharm Ke Sansthapak

जैन धर्म के संस्थापक | jain dharm ke sansthapak  जैन परम्परा में महावीर को जैन धर्म का संस्थापक नहीं माना जाता है। जैनों के अनुसार ,महावीर के पूर्व 23 तीर्थकरों ने समय-समय पर जैन धर्म का प्रचार प्रसार … Read more

भारत का इतिहास, History of India In Hindi

भारत का इतिहास

भारत का इतिहास, History of India In Hindi प्राचीन भारत का सम्पूर्ण इतिहास सिंधुघाटी सभ्यता जैन धर्म Advertisements बौद्ध धर्म राजपूत काल आधुनिक भारत का इतिहास Advertisements वैदिक सभ्यता महाजनपद काल सातवाहन वंश Advertisements छत्रपती शिवाजी महाराज का … Read more

Gautam Buddha In Hindi | गौतम बुद्ध का जीवन परिचय

gautam-budh

गौतम बुद्ध का जन्म, gautam buddha in hindi गौतम बुद्ध (gautam buddha)का जन्म लुंबिनी में  563 ई पूर्व के आस पास माना जाता है बुद्ध के बचपन का नाम सिद्धार्थ था । उनका जन्म नेपाल की तराई मे … Read more